IPL 2022 Mega Auction: जानिये, राइट टू मैच (RTM) कार्ड क्या है,मिनी और मेगा ऑक्शन में क्या अंतर होता है ?

अपडेटेड – 28 जुलाई

इस बार भले ही कोरोना की वजह से आईपीएल को बीच में रोकना पड़ा और बीसीसीआई बचे हुए मैच दुबई में कराने जा रही,लेकिन अगले साल के आईपीएल के लिए तैयारियां चल रही हैं । इस साल की तुलना में 2022 का आईपीएल और भव्य होगा ।

दरअसल 2022 की शुरुआत में आईपीएल मेगा ऑक्शन (IPL 2022 Mega Auction) होगा | चूंकि हर 3 साल में यह मेगा ऑक्शन होता है जिसमें सभी फ्रेंचाइज़ी नए सिरे से खिलाड़ियों की बोली लगाती है,उन्हें रीटेन करती हैं । इसमें कुछ खास नियम भी होंगे, जैसे – RTM यानी राइट टू मैच। आइए जानते हैं कि आखिर ये आरटीएम है क्या ?

ये भी पढ़ें: आईपीएल 2021 : आईपीएल रिकार्ड्स पर एक नजर

राइट टू मैच (RTM) कार्ड क्या है?

 ‘राइट टू मैच’ यानी आरटीएम कार्ड का इस्तेमाल आईपीएल मेगा ऑक्शन में होता है | मेगा ऑक्शन हर 3 साल में होता है | इस आरटीएम कार्ड के जरिए कोई भी आईपीएल फ्रेंचाइजी अपने 2 पुराने खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती है | जब नीलामी के दौरान किसी खिलाड़ी की कीमत तय हो जाती है, तब उसकी पुरानी टीम से पूछा जाता है कि क्या वो इस कार्ड के जरिए उन्हें रिटेन करना चाहती हैं या नहीं |

इस दौरान कोई भी टीम अधिकतम 4 खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती है, 3 खिलाडियों को सीधे रिटेन किया जाता है, जबकि 1 आरटीएम के जरिए पुरानी टीम में वापस आ सकते हैं |

आज टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक बीसीसीआई ने फ्रैंचाइज़ीयों द्वारा पहले 3 खिलाडियों को रीटेन करने की सीमा को बढ़ाकर अब चार कर दी है | यह रिटेंशन इस अनुपात में होगा – तीन भारतीय एक विदेशी या दो भारतीय दो विदेशी खिलाड़ी |

ये भी पढ़ें: IPL 2021: आखिर कितना कमाते हैं धोनी आईपीएल से

2022 मेगा ऑक्शन और आरटीएम

मेगा ऑक्शन में अपनी पिछली टीम के कुछ खिलाड़ियों को अपने साथ रखने का नियम है। सभी टीमों को यह ऑप्शन दिया गया है कि पिछली टीम के कुल 4 खिलाड़ियों को वह अपने साथ रख सकती हैं। जबकि बाकी सभी खिलाड़ी नीलामी में हिस्सा ले सकते हैं।

RTM यानी राइट टू मैच के जरिए फ्रैंचाइजी किसी भी 2 रिलीज खिलाड़ी को अपने साथ रख सकती हैं। लेकिन इसके साथ ही उन्हें रिटेन्शन (Retention) और आरटीएम के तहत 3 कैप्ड इंडियन प्लेयर्स  के नियम को भी मानना होगा।

जहां तक पैसे की बात है तो इस बात का पूरा ध्यान रखा गया है कि खिलाड़ी को कोई नुकसान ना हो। आरटीएम प्लेयर्स के लिए टीम को उतनी ही रकम देनी होगी जितनी कि दूसरे टीम ने ऑफर किया है।  

ये भी पढ़ें: कोरोना काल में आईपीएल की ब्रांड वैल्यू गिरी,चेन्नई को सबसे ज्यादा नुकसान

आरटीएम की शर्तें

मेगा ऑक्शन में भले ही राइट टू मैच का नियम हो लेकिन इसके साथ ही सभी टीमों को अधिकतम 3 कैप्ड इंडियन प्लेयर्स का नियम भी मानना होता है। दरअसल कैप्ड प्लेयर्स वो होते हैं जो जिन्होंने राष्ट्रीय टीम में खेला हो। टीम में ज्यादा-से-ज्यादा 2 अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी और 2 अनकैप्ड खिलाड़ी हो सकते हैं।  

अनकैप्ड खिलाड़ी वो होते हैं जिन्होंने अपने देश के लिए एक भी इंटरनेशनल मैच नहीं खेला हो। एक टीम में कुल इतने ही खिलाड़ी फिर से रखे जा सकते हैं।

ये भी पढ़ें: ICC : आईसीसी ने किया बड़ा एलान,अगले दस सालों में टी 20 विश्व कप सहित 17 टूर्नामेंट होंगे

मिनी और मेगा ऑक्शन में क्या अंतर है ?

बहुत से लोगों को यह नहीं पता है कि आईपीएल में होने वाले मिनी और मेगा ऑक्शन में क्या अंतर है ? कभी-कभी लोग इसे एक ही समझ लेते हैं,लेकिन’दोनों में बहुत फर्क है | मिनी ऑक्शन हर साल होता है जबकि मेगा ऑक्शन तीन साल में एक बार होता है |अंतिम मेगा ऑक्शन 2018 में हुआ था और इस हिसाब से 2021 में फिर मेगा ऑक्शन होता,लेकिन कोरोना की वजह से इसे अगले साल तक स्थगित कर दिया गया |

दो खिलाड़ियों को रिकॉल करने का नियम

जैसे 2018 में मुंबई इंडियन्स (Mumbai Indians) ने अपने 2 टॉप खिलाड़ियों, किरॉन पोलार्ड और क्रुनाल पांड्या को टीम में वापस लाने के लिए आरटीएम का इस्तेमाल किया। वहीं उन्होंने रोहित शर्मा (Rohit Sharma), जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पांड्या को अपनी टीम में बनाए रखा।

ये भी पढ़ें: बीसीसीआई का नया केंद्रीय अनुबंध,धोनी लिस्ट से बाहर

IPL 2018 की नीलामी में दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) ने पोलार्ड के लिए 5.40 करोड़ की अंतिम बोली लगाई। वहीं पोलार्ड को अपने साथ रखने के लिए मुंबई इंडियन्स ने आरटीएम कार्ड का इस्तेमाल किया। लेकिन इसके लिए उसे इतनी ही रकम यानी 5.40 करोड़ रुपये देने पड़े।

इसी तरह क्रुनाल पांड्या को भी फिर से टीम में लाया गया लेकिन ये और भी महंगा सौदा था। क्रुनाल को RCB यानी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर से वापस लाने के लिए 8.80 करोड़ रुपये देने पड़े। 



Tags: , , , , ,

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top