आईपीएल की तरह इस टी20 लीग ने जारी किया नया नियम, जानें क्या है नियम

वर्ल्ड क्रिकेट के सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले लीग आईपीएल में बीते सीजन यानी आईपीएल 2023 में इम्पैक्ट प्लेयर का रूल लाया गया था, जिसकी मदद से कोई भी टीम मुकाबले के समय किसी भी एक अन्य खिलाड़ी को अपनी जरुरत के अनुसार अपनी प्लेइंग 11 का हिस्सा बना सकती है। कुछ ऐसा ही रूल एक अन्य टी20 टीम में देखा जाने वाला है। जिसका ऐलान हाल ही में में किया गया है। तो आइए जानते हैं कि आखिर वो लीग कौनसी है और वो कौनसा रूल है, जो उसमें दिखाई देने वाला है।

this t20 league introduced 2 rules similar to ipl
ILT20 League

आईपीएल की तरह इस टी20 लीग में भी आया नया नियम

this t20 league introduced 2 rules similar to ipl

दरअसल, हम जिस लीग की बात कर रहे हैं, वह डीपी वर्ल्ड इंटरनेशनल लीग टी20 (ILT20) है, जिसका दूसरा सीजन 19 जनवरी से शुरू होने जा रहा है। मगर इसकी शुरुआत से पहले ही इसमें काफी बड़े नियम लाए गए हैं, जोकि सुपर-सब और वाइल्डकार्ड का है। यूएई के सबसे बड़े टी20 टूर्नामेंट का आगामी सीजन शुक्रवार,19 जनवरी को डिफेंडिंग चैंपियन गल्फ जाइंट्स और शारजाह वॉरियर्स के बीच मुकाबले के साथ शुरू होगा। जोकि शारजाह क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा। इस टूर्नामेंट का फाइनल 17 फरवरी को खेला जाएगा। इस दौरान इस लीग में कुल 34 मुकाबले खेले जाएंगे, जिसमें कुल 6 टीमें हिस्सा ले रही हैं।

यह भी पढ़ें: IPL 2024 में इन खिलाड़ियों की आएगी मौज, बिना फील्डिंग किए मिलेगा बैटिंग और बॉलिंग करने का मौका!

सुपर-सब – डीपी वर्ल्ड ILT20 सीजन 2

सुपर सब नियम भी कहीं न कहीं इम्पैक्ट प्लेयर के नियम के तरह ही है। सुपर सब नियम के तहत दोनों टीमें पहली पारी के पहले ओवर के खत्म होने के साथ ही कभी भी एक अन्य खिलाड़ी को मैच का हिस्सा बना सकती हैं, जिसके लिए टीम के हेड कोच को चौथे अंपायर को बताना होगा। जिसके बाद वह खिलाड़ी मैदान पर उतर सकता है। वहीं अगर कोई टीम इसका प्रयोग दूसरे पारी में करना चाहे तो वो भी कर सकती है। और दूसरी पारी में यह नियम पहले ही ओवर से लागू किया जा सकता है। मगर एक बार जिस खिलाड़ी को प्रतिस्थापित किया जाएगा वह दोबारा मैच का हिस्सा नहीं बन सकता है।

वाइल्डकार्ड – डीपी वर्ल्ड ILT20 सीज़न 2

बता दें कि वाइल्डकार्ड एंट्री का नियम काफी मजेदार होने वाला है, क्योंकि इस नियम के तहत सभी टीमों के पास 22 खिलाड़ियों की मूल सीमा से अधिक, दो अतिरिक्त खिलाड़ियों को अपनी टीम में शामिल करने की अनुमति होगी। जोकि केवल एक विकल्प है यानी अगर कोई फ्रेंचाइजी इसका उपयोग नहीं करना चाहती है तो यह उसकी मर्जी होने वाली है।

यदि कोई फ्रेंचाइजी पहले से ही अधिकतम $2.5 मिलियन वेतन खर्च कर चुकी हैं, तो उन्हें वाइल्डकार्ड खिलाड़ियों पर वेतन सीमा का अधिकतम 10% यानी $250,000 खर्च करने की इजाजत होगी। और वहीं अगर किसी टीम ने अधिकतम $2.5 मिलियन से कम खर्च किया है। तो वह टीम वाइल्डकार्ड खिलाड़ियों पर अधिक पैसा खर्च कर सकती है। ऐसे में अब देखना होगा कि आगामी सीजन में यह कितना कारगार साबित होता है और फैंस द्वारा इसे कितना प्यार मिलता है।